Mangalwar Vrat Going to start fasting for Hanuman ji know the niyam and rituals शुरू करने जा रहे हैं हनुमान जी के लिए उपवास, जानिए व्रत शुरू करने के नियम

Mangalwar Vrat- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK
Mangalwar Vrat

Highlights

  • हनुमान जी के लिए मंगलवार का व्रत रखा जाता है।
  • हनुमान जी का जन्म मंगलवार को हुआ था।

हिंदू धर्म में हर दिन का महत्व है, सोमवार को भोलेनाथ की उपासना होती है तो मंगलवार को हनुमान जी की। वहीं बृहस्पतिवार को विष्णु जी का व्रत रखा जाता है। शुक्रवार को लोग माता संतोषी का व्रत करते हैं, वहीं शनिवार का दिन हनुमानजी और शनिदेव को समर्पति है। लोग अपने इष्ट देवता को उनके खास दिन याद करते हैं और उनके लिए उपवास रखते हैं। अगर आप मंगलवार का व्रत शुरू करना चाहते हैं और आपको पूजा विधि और नियम नहीं पता हैं, तो परेशान होने की जरूरत नहीं है, हम आपको बताते हैं कि आप ये व्रत कैसे रख सकते हैं। 

Sheetala Ashtami 2022: माता शीतला को क्यों लगाया जाता है बासी खाने का भोग? जानिए इस पर्व का खास महत्व

मंगलवार को क्यों होती है हनुमानजी की पूजा

हनुमान जी मंगलवार को इस धरती पर अवतरित हुए थे, इसलिए उन्हें मंगलवार का दिन समर्पित किया जाता है। हनुमानजी को संकटमोचन भी कहते हैं क्योंकि उनकी पूजा से भक्तों के संकट और कष्टों का निवारण होता है। मंगलवार के दिन आप सुंदरकांड औप हनुमान चालीसा का पाठ करें, ऐसा करने से सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

जानिए कब से शुरू कर सकते हैं मंगलवार का व्रत

आप किसी भी महीने के शुक्ल पक्ष के पहले मंगलवार से हनुमान जी का व्रत शुरू कर सकते हैं, मगर अगर किसी मनोकामना के लिए ये व्रत रख रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि आप 21,45 या 51 व्रत रखें। व्रत पूरा करके विधिपूर्वक उद्यापन करना भी जरूरी है। 

मंगलवार व्रत पूजा विधि

सुबह सूर्योदय से पहले उठें। नित्यक्रिया करके स्नान करें और लाल रंग का वस्त्र धारण करें। हनुमान जी को लाल फूल, सिंदूर और वस्त्र आदि चढ़ाकर उनकी पूजा करें। हनुमान जी की प्रतिमा के सामने दीपक जलाकर हनुमान चालीसा अथवा सुंदरकांड का पाठ करें। शाम के वक्त बेसन के लड्डू या फिर खीर का भोग लगाकर नमकरहित भोजन करें। इस दिन ब्रह्मचर्य का पालन करें। अगर आपकी कुंडली में मंगलदोष है तो ये व्रत रखकर आप परेशानी से मुक्ति पा सकते हैं।

मंगलवार व्रत का नियम

धार्मिक मान्यता के अनुसार मंगलवार को अगर आप हनुमान जी का व्रत रखते हैं तो इसमें नमक का सेवन ना करें, इस व्रत में आप एक वक्त भोजन कर सकते हैं, मगर वो भोजन करना मीठा हो तो उत्तम रहता है। इस दिन किसी मीठी वस्तु का दान करना शुभ होता है, इस दौरान साफ-सफाई का ध्यान रखें।

Chaitra Navratri 2022 : कब से शुरू हो रहे हैं नवरात्र? जानिए किस दिन पड़ रही है अष्टमी और नवमी

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं। इंडिया टीवी इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है। इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है।)

Source link

Leave a Comment