never make these mistakes with tulsi plant it will become cause of money loss and troubles।आपके घर में भी है तुलसी का पौधा तो इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो हो सकता है भारी नुकसान

 tulsi plant- India TV Hindi
Image Source : TWITTER
 tulsi plant

Highlights

  • तुलसी का पौधा घर में लगाने से निगेटिव ऊर्जा नष्ट होती है
  • तुलसी का पौधा घर में आने वाली नकारात्मक ऊर्जा को रोकने के लिए भी एक अच्छा उपाय है
  • यह परिवार की आर्थिक स्थिति के लिए भी शुभ होता है

आपने अधिकतर घरों में तुलसी का पौधा लगा देखा होगा। तुलसी का पौधा वास्तु की दृष्टि से बहुत ही शुभ माना जाता है। इसे घर में लगाने से वास्तु संबंधी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं। शास्त्रों में तुलसी के पौधे को लक्ष्मी का रूप बताया गया है यानि जहां पर तुलसी होती है वहां लक्ष्मी जी का आगमन होता ही है। यह एक अद्भुत औषधीय पौधा है। 

तुलसी का पौधा घर में लगाने से निगेटिव ऊर्जा नष्ट होती है और पॉजिटिव ऊर्जा बढ़ती है। तुलसी का पौधा घर में आने वाली नकारात्मक ऊर्जा को रोकने के लिए भी एक अच्छा उपाय है। साथ ही यह परिवार की आर्थिक स्थिति के लिए भी शुभ होता है। तुलसी का पौधा घर में होने से मन को शांति और प्रसन्नता मिलती है, वहीं धर्म ग्रंथों के अनुसार जिस घर पर कोई मुसीबत आने वाली होती है तो उस घर से सबसे पहले लक्ष्मी यानी कि तुलसी चली जाती है क्योंकि दरिद्रता, अशांति या क्लेश जहां भी होता है वहां मां लक्ष्मी का निवास कभी नही होता।

इस पौधे को लगाने के कुछ नियम है जिनका जरूर पालन करना चाहिए अन्यथा अशुभ फलों की प्राप्ति होती है और घर पर दुर्भाग्य का वास हो जाता है। जानिए वास्तु शास्त्र के अनुसार तुलसी का पौधा घर पर है तो किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है चलिए जानते हैं-

इस दिशा में ना लगाएं तुलसी का पौधा-


घर की दक्षिण दिशा में तुलसी का पौधा नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि इससे आपको नुकसान हो सकता है।

घर में ना रखें इस तरह का तुलसी का पौधा –

 घर में कभी भी सूखा तुलसी का पौधा नहीं रखना चाहिए।  इस तरह के पौधे को कुएं या किसी पवित्र स्थान पर बहा देना चाहिए और उस जगह पर नया पौधा लगाना चाहिए। दरअसल, तुलसी का पौधा बुध के कारण सूखता है, क्योंकि बुध ग्रह हरे का प्रतीक होता है और पेड़-पौधे, हरियाली के प्रतीक होते हैं। यह एक ऐसा ग्रह है जो दूसरों ग्रहों के अच्छे और बुरे प्रभाव जातक तक पंहुचाता है। बुध के प्रभाव से ही तुलसी के पौधे में फूल लगने लगते हैं।

इस दिन तुलसी पर ना चढ़ाएं जल-

प्रत्येक रविवार, एकादशी और सूर्य व चंद्र ग्रहण के समय तुलसी में जल नहीं चढ़ाना चाहिए। साथ ही इन दिनों में और सूर्य छिपने के बाद तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए। 

छत पर ना रखें तुलसी का पौधा-

वास्तु में तुलसी के पौधे को छत पर रखने से दोष लगता है। इससे आपकी कुंडली में बुध की स्थिति कमजोर होती है। बुध का कमजोर होने का मतलब है कि घर में पैसों की कमी होना। अगर आपके घर में छत के अलावा कोई जगह नहीं है तो आप इसके साथ केले का पेड़ लगाएं। इन दोनों पेड़ों को एक साथ रोली से जोड़कर लगाएं।

गुरुवार को दूध चढ़ाना माना जाता है शुभ-

जो व्यक्ति गुरुवार के दिन तुलसी के पौधे में कच्चा दूध डालता है और रविवार को छोड़कर प्रतिदिन शाम को घी का दीपक जलाता है, उसके घर में सदा मां लक्ष्मी का वास रहता है।

नाखून से न तोड़ें पत्ते-

तुलसी के पत्‍तों को कभी भी नाखून से न तोड़ें, बल्कि उंगलियों के पोर की मदद से बहुत आराम से तोड़ें। तुलसी के पत्‍ते हमेशा इस तरह तोड़ना चाहिए।

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। इंडिया टीवी  इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले इससे  संबंधित पंडित ज्योतिषी से संपर्क करें। 

Source link

Leave a Comment